Wednesday, November 21, 2018 Home   |   Sign in   |   Contact us   |   Help  
  View Certificate
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक
 

जया बच्चन पर आपत्तिजनक बयान, चौतरफा घिरे बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल

     Last Updated:(12:07 PM) 13 Mar 2018
नई दिल्ली 
बीजेपी में शामिल होने के बाद ऐक्ट्रेस जया बच्चन  पर विवादित बयान देने वाले समाजवादी पार्टी (एसपी) के पूर्व नेता नरेश अग्रवाल ने चौतरफा निंदा के बाद अपने बयान के लिए खेद जताया है। बता दें कि सोमवार को बीजेपी में शामिल होने के बाद अपनी पहली ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में अग्रवाल ने उनकी जगह जया को तरजीह देने पर एसपी पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि पार्टी ने उनकी तुलना फिल्म अभिनेत्री से की है 'जो फिल्मों में नाचती थीं।' अग्रवाल ने मंगलवार को जया पर दिए बयान पर सफाई देते हुए कहा, 'मेरे बयान से किसी को कोई कष्ट हुआ है तो मुझे उसका खेद है। मुझे एसपी ने टिकट देना उचित नहीं समझा और जया को टिकट दिया। मैं किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहता हूं और खेद जताता हूं।' उन्होंने कहा, 'मेरे बयान को मीडिया ने अलग तरीके से दिखाया। मेरा किसी को दुख पहुंचाने का इरादा नहीं था। मैं अपने शब्द वापस लेता हूं।' हालांकि पत्रकारों द्वारा बार-बार माफी मांगने के सवाल पर भी अग्रवाल ने अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगी। राम मंदिर के सवाल पर अग्रवाल ने कहा, 'मैं भी हिंदू हूं और पूजा करता हूं। राम मंदिर का किसी भी हिंदू ने विरोध नहीं किया है। मुस्लिमों को भी राम मंदिर से कोई आपत्ति नहीं है।' राम पर उनके पूर्व दिए गए बयानों पर पूछने पर अग्रवाल ने कहा कि वह पुरानी बातों में नहीं जाना चाहते हैंअग्रवाल के बयान पर उनकी बीजेपी समेत चौतरफा निंदा हो रही है। बीजेपी नेता सुषमा स्वराज और स्मृति इरानी ने अग्रवाल के बयान की निंदा की है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्टीट किया कि नरेश अग्रवाल बीजेपी में शामिल हुए हैं, उनका स्वागत है, लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित और अस्वीकार्य है। बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता आईपी सिंह ने कहा कि 2001 में घोर भ्रष्टाचार के आरोप में तत्कालीन सीएम राजनाथ सिंह ने नरेश अग्रवाल को बर्खास्त किया था। अब वह बीएसपी, एसपी से होते हुए फिर बीजेपी में हैं। यह व्यक्ति राजनीतिक रूप से खत्म हो जाता और एक सुचितापूर्ण राजनीति होती, लेकिन पार्टी ने सहारा देकर एक राक्षस को फिर से जीवित कर दिया। अग्रवाल के एसपी से बीजेपी का दामन थामने के बाद पार्टी में क्लेश बढ़ना तय माना जा रहा है। वजह यह है कि बीजेपी में नरेश के जितने चाहने वाले हैं, उससे कहीं ज्यादा नापसंद करने वाले हैं। नरेश अकेले ऐसे नेता हैं, जिन्होंने न केवल हिंदू धर्म पर टिप्पणी की, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए भी जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया था। वह बीजेपी में शामिल भी हुए तो जया बच्चन पर टिप्पणी करने के साथ, जिसका विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने न केवल विरोध किया, बल्कि उन्हें हिदायत देते हुए कहा कि यह टिप्पणी अनुचित और अस्वीकार्य है। 
  टिप्पणी

 

  फोटोगैलरी
 
 
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक Youtube Video Facebook Twitter in.com