Wednesday, November 21, 2018 Home   |   Sign in   |   Contact us   |   Help  
  View Certificate
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक
 

मैं केस सुलझाना चाहता हूं, गलत आरोप लगाकर भारत में मेरा बिजनेस बंद किया जा रहा है: CBI से मेहुल चौकसी

     Last Updated:(1:35 PM) 20 Mar 2018
नई दिल्ली. पीएनबी घोटाले के दो मुख्य आरोपियों में से एक मेहुल चौकसी ने एक बार फिर सीबीआई के नोटिस का जवाब दिया है। मेहुल ने मंगलवार को सीबीआई से कहा, "मैं विदेश में अपना बिजनेस जमाने में लगा हूं। मैं मामले को सुलझाना भी चाहता हूं लेकिन गलत आरोपों के चलते भारत में मेरा बिजनेस बंद किया जा रहा है।" बता दें कि मेहुल चौकसी और उसका भांजा नीरव मोदी 12,672 करोड़ के पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी हैं। इससे पहले 9 मार्च को गीतांजलि ग्रुप के मालिक मेहुल चौकसी ने सीबीआई को 7 पन्नों का लेटर लिखा था। इसमें चौकसी ने कहा कि खराब हेल्थ और पासपोर्ट रद्द किए जाने से अब भारत लौटना मुमकिन नहीं है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक मेहुल ने सीबीआई से कहा, "तबीयत खराब होने की वजह से मैं भारत की यात्रा नहीं कर सकता।"
- "ये भी कहना चाहता हूं कि मैं जांच में सहयोग के लिए तैयार हूं। लेकिन न तो मुझे कोई मदद मिल रही है और न ही मेरे पास किसी तरह की सूचना है। कई एजेंसियां मेरे खिलाफ अभियान छेडे़ हुए हैं। ये कतई सही नहीं है।"
- "मैं विदेश में हूं। पहले भी मैं कई नोटिस का जवाब दे चुका हूं। आश्चर्य की बात है कि मुद्दा अभी भी जस का तस बना हुआ है। मुझे अपनी सुरक्षा की चिंता है। मीडिया भी अपनी तरह से ट्रायल चला रहा है और हर बात को बढ़ा-चढ़ाकर दिखा रहा है।"
- "रीजनल पासपोर्ट ऑफिस मुझसे किसी भी तरह संपर्क नहीं कर रहा। मेरा पासपोर्ट पहले ही सस्पेंड किया जा चुका है। मैं आपका सम्मान करता हूं और भरोसा दिलाता हूं कि किसी भी तरह का बहाना नहीं बना रहा।" पहले के अपने लेटर में मेहुल ने लिखा था, ''मैं कारोबार के सिलसिले में विदेश यात्रा पर हूं, जो मनी लॉन्ड्रिंग की एफआईआर दर्ज होने से पहले ही शुरू हो गई थी। अब पासपोर्ट रद्द हो जाने की वजह से मेरे लिए भारत लौटना असंभव है। पूछना चाहता हूं कि मैं कैसे भारत की सुरक्षा के लिए खतरा हूं? इस बारे में मुंबई के पासपोर्ट ऑफिस ने मुझे कोई वजह नहीं बताई।''
- ''मैं अपनी हेल्थ और अच्छे होने को लेकर परेशान हूं क्योंकि मुझे डर है कि भारत में मुझे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके बाद सरकारी अस्पतालों में मुझे बेहतर इलाज नहीं मिलेगा। जेल में बंद किसी आरोपी को उसकी पसंद का डॉक्टर नहीं मिलता। फिलहाल, मेरी हालत ऐसी नहीं है कि अगले 4 से 6 महीने ट्रैवल कर पाऊं।''
- चौकसी ने आगे लिखा, ''जांच एजेंसियों ने मेरी प्रॉपर्टी और बैंक खाते सीज कर दिए। भारत में सभी ऑफिस बंद होने से बिजनेस पर चौपट हो गया। एजेंसियों ने पहले से तय सोच के मुताबिक, मेरे खिलाफ कानून का गलत इस्तेमाल किया। मुझे इंसाफ के लिए आजादी से मुकदमा लड़ने का मौका मिले।''
  टिप्पणी

 

  फोटोगैलरी
 
 
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक Youtube Video Facebook Twitter in.com