Thursday, May 24, 2018 Home   |   Sign in   |   Contact us   |   Help  
  View Certificate
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक
 

गुमराह युवा जान लें कि कश्मीर की आजादी की मंशा कभी पूरी नहीं होगी

     Last Updated:(10:55 AM) 10 May 2018
श्रीनगर. सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कश्मीर में अशांति फैलाने वाले गुटों को चेतावनी दी है। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में कहा कि कश्मीर की आजादी के लिए हथियार उठाने वाले युवा जान लें कि उनकी यह मंशा कभी पूरी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि आप हमसे लड़ोगे तो हम आपसे लड़ेंगे।सेना प्रमुख ने कहा, कश्मीरी युवाओं को गुमराह किया जा रहा है। उन्हें कहा जा रहा है कि इस रास्ते पर चलने से आजादी मिलेगी। रावत ने कहा, "मैं कश्मीरी युवाओं को बता देना चाहता हूं कि कश्मीर की आजादी नामुमकिन है। यह कभी नहीं होने वाला।रावत ने कहा, "मैं सेना के साथ मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों की संख्या को अहमियत नहीं देते। यह तो चलता रहेगा। नई भर्तियां होती रहेंगी। यह सब बेमानी है। इससे (आतंकियों को) कुछ भी हासिल नहीं होने वाला। आप सेना का मुकाबला नहीं कर सकते।जनरल रावत ने कहा कि मुठभेड़ में युवा मारे जाते हैं तो दुख हमें भी होता है। हमें इस पर कोई खुशी नहीं होती। लेकिन वो लड़ते हैं तो हमारे पास भी भरपूर ताकत से मुकाबला करने के सिवाय कोई चारा नहीं बचता।सेना प्रमुख ने कहा कि कश्मीरी युवाओं को समझना चाहिए कि भारतीय सुरक्षाबल दूसरे देशों जैसे क्रूर नहीं हैं। सीरिया और पाकिस्तानी तो ऐसे हालात से निपटने के लिए टैंकों से और हवाई हमले किए जाते हैं। दूसरी तरफ, हमारी सेना नागरिकों की हिफाजत के लिए हर मुमकिन कोशिश करती है।उन्होंने कहा कि हमें पता है कि कश्मीरी युवाओं में गुस्सा है, लेकिन सेना के जवानों पर पत्थर फेंकना कोई उपाय नहीं है
  टिप्पणी

 

  फोटोगैलरी
 
 
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक Youtube Video Facebook Twitter in.com