Tuesday, November 20, 2018 Home   |   Sign in   |   Contact us   |   Help  
  View Certificate
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक
 

आंधी और बारिश से 50 की मौत, 50 से ज्यादा जख्मी; आज भी 6 राज्यों में तूफान की चेतावनी

     Last Updated:(10:49 AM) 14 May 2018
नई दिल्ली.मौसम विभाग ने सोमवार को उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, पश्चिमी उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की चेतावनी दी है। इससे पहले रविवार को मौसम ने देश के उत्तर से लेकर दक्षिणी और पूर्व से लेकर पश्चिमी हिस्सों में तबाही मचाई। 24 घंटे के दौरान आंधी, तूफान और बारिश की वजह से हुए हादसों में छह राज्यों में 50 लोग मारे गए। 50 से ज्यादा लाेग जख्मी हुए। सबसे ज्यादा 18 मौतें उत्तरप्रदेश में हुईं। दिल्ली में 109 किलोमीटर की रफ्तार से आंधी चली। मौसम विभाग ने 50 किलोमीटर प्रति घंटे से चलने की बात कही थी। कई जगह पेड़ और खंभे गिरने से काफी नुकसान हुआजम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के दूरदराज के इलाकों में तेज हवाओं के साथ तूफान का अलर्ट, ओले भी गिर सकते हैं। ओडिशा और दक्षिण कर्नाटक के आंतरिक हिस्सों में तेज हवाओं के साथ आंधी का अलर्ट दिया गया है। राजस्थान और विदर्भ के कुछ इलाकों में लू के थपेड़े परेशान करेंगे। इससे पहले मौसम विभाग ने कहा था कि पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) के असर से उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में आंधी-तूफान का खतरा बना हुआ है। मौसम विभाग ने 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तूफान आने की चेतावनी जारी की थी। तेज रफ्तार आंधी के चलते दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 70 फ्लाइट जयपुर, अमृतसर, लखनऊ डाइवर्ट करनी पड़ीं। इनमें से नौ की लखनऊ में इमरजेंसी लैंडिंग हुई। साथ ही दिल्ली में 24 फ्लाइट देर से उड़ीं। - पेड़ गिरने और बिजली सप्लाई ठप होने से सड़क और रेल ट्रैफिक बुरी तरह प्रभावित रहे। दिल्ली, मुरादाबाद, गाजियाबाद में 12 से अधिक ट्रेनें कई घंटें फंसी रहीं। दिल्ली में शाम पांच बजे के बाद करीब दो घंटे तक मेट्रो सेवाएं भी बाधित रहीं।दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब और उत्तरप्रदेश के कई हिस्सों में रविवार शाम तूफान के बाद हुई बारिश ने लोगों को गर्मी से निजात भी दिलाई। दिल्ली में दोपहर में 39.6 डिग्री तापमान था। जो बारिश के दौरान महज आधे घंटे में पारा 14 डिग्री लुढ़ककर 25 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। जिससे लोगो को गर्मी से राहत मिली।मौसम विशेषज्ञ एसके नायक ने बताया कि हरियाणा से लेकर उत्तर मध्य महाराष्ट्र तक एक नार्थ-साउथ ट्रफ लाइन बनी है। यह भोपाल सहित मप्र के पश्चिमी हिस्से से होकर गुजर रही है। हरियाणा से लेकर नागालैंड तक एक आैर ईस्ट-वेस्ट ट्रफ लाइन बनी है। इनकी वजह से बारिश, गरज-चमक के साथ तेज हवा, ओलावृष्टि और बारिश के आसार हैंमौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, उत्तर भारत में आए आंधी-तूफान और दक्षिण भारत में बढ़ते तापमान की वजह से इस बार मानसून 4-5 दिन पहले दस्तक दे सकता है। बारिश भी अच्छी होगी। आंधी-तूफान के कारण मानसून कम-ज्यादा नहीं होगा, बल्कि इसके समय में बदलाव हो सकता है।
  टिप्पणी

 

  फोटोगैलरी
 
 
 
होम राज्य देश संपादकीय युवा खेल फ़िल्मी सितारे वीडियो कैरियर आर्थिक Youtube Video Facebook Twitter in.com